बड़े ही अदब के साथ जाम को मैखाने में मुह से लगाया ज

बड़े ही अदब के साथ जाम को मैखाने में मुह से लगाया जाता है
लड़की को पता होता है अपने आशिक़ को थोड़ा थोड़ा सताया जाता है
हम पिये जाम या जाम पिये हमको क्या फर्क पड़ता है यारों
देखो नई दुनिया के कानून वफादार को ही यहाँ बेवफा बताया जाता है

Rajat Akela Dil

समझ न सके उन्हें हम क्योकि इश्क़ के नशे में चूर थे

समझ न सके उन्हें हम क्योकि इश्क़ के नशे में चूर थे
जान लुटाते थे जिस पर वो दिल तोड़ने के लिए मशहूर थे
खुशी से दिल तोड़ दिया एक रोज़ उन्होंने मेरा खेल खेल में
माथे हाथ फेरते हुए बोले यार हम तो आदत से मजबूर थे

Rajat Akela Dil
https://www.facebook.com/rajatakeladil29

दर्द को इतना जिया कि दर्द मुझसे डर गया,

दर्द को इतना जिया कि दर्द मुझसे डर गया,
और फिर हंसकरके बोला, यार मैं तो मर गया
-संजय ग्रोवर
Dard ko itna jiya ki dard mujhse dar gaya,
Aur fir hans karke bola, yaar main toh mar gayaa
-Sanjay Grover

मीर, मोमीन, ग़ालिब, इक़बाल अब जिन्दा

मीर, मोमीन, ग़ालिब, इक़बाल अब जिन्दा
कहाँ... इन्हें बर्दास्त कहाँ उनपे फक्र कहाँ,

आज जो हम हैं क्या ताज्युब
जब हैं तो ज़माने को कद्र कहाँ!

Don't have an account? Sign up

Forgot your password?

Error message here!

Error message here!

Hide Error message here!

Error message here!

OR
OR

Lost your password? Please enter your email address. You will receive a link to create a new password.

Error message here!

Back to log-in

Close